Home Authors Posts by ravan

ravan

28 POSTS 0 COMMENTS
मैं रावन, लंका का राजा, मैं वह रावण हूं जिसने अपने सीस रूपी पुष्प चढ़ा चढ़ा कर उमापति महादेव की पूजा की है। जब मेरा हाथ खड़क की ओर जाता है तो आसमान में लोकपाल भय से कांपते हैं। जिन भुजाओं ने स्वयं कैलाश को उठा दिया था उस भुजाओं के फड़कने मात्र से देवता गांधार और नक्षत्र भी भय से सांस लोग लेते हैं।
Defects in Timber

Defects in Timber

1
Preservation Of Timber

Preservation Of Timber:-

1
PROCESSING OF TIMBER

PROCESSING OF TIMBER

2
Structure of Tree

Classification of Trees

2
Paints Notes

Paints

0
LIME & MORTAR

LIME And MORTAR

0
BRICKS

BRICKS

1

Connect With Us

0FansLike
0FollowersFollow
0FollowersFollow
0FollowersFollow
मैं रावन, लंका का राजा, मैं वह रावण हूं जिसने अपने सीस रूपी पुष्प चढ़ा चढ़ा कर उमापति महादेव की पूजा की है। जब मेरा हाथ खड़क की ओर जाता है तो आसमान में लोकपाल भय से कांपते हैं। जिन भुजाओं ने स्वयं कैलाश को उठा दिया था उस भुजाओं के फड़कने मात्र से देवता गांधार और नक्षत्र भी भय से सांस लोग लेते हैं।